March 23, 2019

विकास का दूसरा नाम अनुप्रिया पटेल, पांच साल में मीरजापुर की बदल दी तस्वीर

पांच वर्षों में अनुप्रिया पटेल ने 15000 करोड़ से ज्यादा की परियोजनाएं मिर्जापुर लायीं

Buddhadarshan News, Mirzapur

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने अपने संसदीय क्षेत्र मिर्जापुर का स्वरूप बदल दिया। पिछले पांच सालाें के दौरान केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने मिर्जापुर में हर क्षेत्र में विकास कार्य किया।  उन्होंने लगभग 15 हजार करोड़ से ज्यादा की परियोजनाएं जनपद में लाईं। उन्होंने रेलवे, सड़क, पुल, मेडिकल कॉलेज, महिला अस्पताल, कॉर्डियक केयर यूनिट जैसी महत्वपूर्ण सौगात दीं। उन्होंने 40 सालों से  3400 करोड़ की बहुप्रतीक्षित बाण सागर परियोजना को जमीन पर उतारा। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड का आयल टर्मिनल 700 करोड़ रुपए की लागत से 90 एकड़ जमीन पर स्थापित किया जा रहा है।  

रेलवे:

लगभग 22 करोड़ रुपए की लागत से मिर्जापुर रेलवे स्टेशन व विंध्याचल स्टेशन का सौंदर्यीकरण। जिसके अंतर्गत मीरजापुर स्टेशन के दक्षिण द्वार का निर्माण, टिकट बुकिंग काउंटर, स्वाचलित सीढ़ियां, सोलर पैनल स्थापित।  

पुरुषोत्तम एक्सप्रेस एवं दानापुर-पुणे एक्सप्रेस जैसी कई महत्वपूर्ण ट्रेन का ठहराव। त्रिवेणी एक्सप्रेस का मीरजापुर एवं चुनार में ठहराव। चौरी चौरा एक्सप्रेस का कछवा स्टेशन पर ठहराव। पं. दीनदयाल उपाध्याय नगर- प्रयागराज- ईएमयू ट्रेन का संचालन प्रारम्भ। पटना- नई दिल्ली संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस का मीरजापुर में ठहराव। मड़ुवाडीह-नई दिल्ली ट्रेन का कछवा स्टेशन पर ठहराव। मूरी एक्सप्रेस का लूसा (राजगढ़) स्टेशन पर ठहराव।

-मीरजापुर में जिगना स्टेशन से जिवनाथपुर स्टेशन व चुनार जंक्शन से लूसा स्टेशनों के बीच सभी रेलवे क्रासिंग पर अंडर ब्रिज एवं ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य जारी। चुनार से चोपन रेलवे लाईन का विद्युतीकरण। प्रयागराज से पं.दीनदयाल उपाध्याय नगर तीसरी रेलवे लाईन का कार्य।

वाराणसी – प्रयागराज रेल लाईन के राजातालाब स्टेशन से वाया अदलापुर/ चुनार जंक्शन तक नई रेलवे लाईन का सर्वेक्षण कार्य।

पं.दीन दयाल उपाध्याय नगर-अहरौरा-सुकुत-रार्बट्सगंज नई रेल लाईन का सर्वेक्षण  कार्य।

मीरजापुर – लालगंज- ड्रमंडगंज – रीवा नई रेल लाईन का सर्वेक्षण कार्य।

सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग:

40 साल पूर्व प्रारम्भ की गई 3400 करोड़ रुपए की बहुप्रतीक्षित बाण सागर परियोजना का 15 जुलाई 2018 को प्रधानमंत्री द्वारा लोकार्पण।

बेलन बकहर पोषक नहर की अधूरी परियोजना का कार्य पूर्ण तथा सिंचाई कार्य प्रारम्भ।

देश के सबसे बड़े पठार में सम्मिलित राजगढ़, पटेहरा, ब्लॉकों की सुनिश्चित सिंचाई हेतु 43 वर्षों से अधूरी सोन लिफ्ट की 1 अरब 21 करोड़ की स्वीकृत परियोजना हेतु 14 करोड़ रुपए की प्रथम किस्त आवंटित।

लगभग 151 लाख की धनराशि से जनपद के रामरायपुर सक्तेशगढ़ के बंद पड़े नलकूपों, पम्प कैनालों को चलवाने तथा अदलपुरा आदि पम्प कैनालों के कमाण्ड में डिमाण्ड बढ़ने वाले स्थानों में नहरों की क्षमता वृद्धि का कार्य प्रगति पर।

जरगो जलाशय से पटिहटा माइनर हेतु 24 करोड़ की राशि स्वीकृत और प्रथम किश्त 5 करोड़ जारी।

विकास खण्ड सीखड़, मझवां व कोन ब्लॉक को बाढ़ से मुक्ति हेतु वाराणसी (रामनगर) गंगा पुल से मीरजापुर चील्हपुल गंगापुल तक नमामि गंगे योजना में तटबंध बनवाने का प्रस्ताव प्रेषित।

अहरौरा बांध के जलप्लावन/बाढ़ से मुक्ति हेतु अहरौरा बांध के भीतर चेकडैम बनाकर अहरौरा बांध की क्षमता वृद्धि कराना और जमालपुर ब्लॉक को बाढ़ से बचाने हेतु अतिरिक्त वर्षा जल को गरई नदी की जगह कलकलिया या जरगो नदी से गंगा में ले जाने का प्रस्ताव प्रेषित।

सड़क निर्माण:

शहर में विकास भवन से गांधी घाट तक तथा नरायनपुर बाजार में सीसी रोड बनकर पूर्ण। केंद्रीय सड़क निधि से मीरजापुर-गोपीगंज, औराई-विंध्याचल, अहरौरा से चुनार वाया जमुई सड़क का कार्य पूर्ण।

मिर्ज़ापुर जनपद के समस्त प्रमुख संपर्क मार्गो का कायाकल्प

चुनार घाट पुल का मा. प्रधानमंत्री द्वारा तथा भटौली घाट पुल का उपमुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पण।

जनपद की 125 किमी लंबी मुख्य सड़क वाराणसी से चुनार, मीरजापुर, लालगंज, ड्रमंडगंज होते हुए म.प्र. सीमा तक फोरलेन / सिक्सलेन एवं नरायणपुर में फ्लाईओवर, मीरजापुर नगर में बाईपास सहित लगभग 3500 करोड़ की योजना का महामहिम राष्ट्रपति द्वारा शिलान्यास और कार्य प्रारम्भ।

राष्ट्रीय राजमार्ग 76 में मीरजापुर प्रयागराज सीमा तक दो लेन / चार लेन का कार्य। कलवारी- लालगंज का चौड़ीकरण। राष्ट्रीय राजमार्ग 7 का पुनर्निर्माण

बेलवन नदी पर बेलवन ग्राम में पुल। बेलवन नदी पर कोटा घाट पर पुल। जिवनाथपुर में 7081.76 लाख की लागत से रेलवे लाइन के ऊपर फ्लाईओवर निर्माणाधीन।

इमिलियाचट्टी से शेरवां वाया अदलहाट तथा नरायणपुर में इमिलियाचट्‌टी वाया बंगला रुपौधा की सड़कों का केंद्रीय सड़क निधि से चौड़ीकरण का कार्य स्वीकृत। गंगापुर पीपा पुल का कार्य स्वीकृत।

उत्तरी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का टर्मिनल द्वारा दक्षिणी कॉरिडोर से मुम्बई को जोड़ना ।

चुनार पुल

भटौली पुल

बेलवन पुल

कोटा घाट पर पुल

गांगपुर-बटेवर पीपा पुल

मिश्रपुर-सीतामढ़ी पीपा पुल

स्वास्थ्य सुविधाएं:

मेडिकल कॉलेज की स्थापना।

हृदय रोगियों के इलाज के लिए कॉर्डियक केयर यूनिट (सीसीयू) की स्थापना

जनपद में लाइफ लाईन एक्सप्रेस ट्रेन द्वारा 14000 मरीजों का उपचार।

मण्डलीय पुरुष चिकित्सालय ई- हॉस्पिटल के रूप में रूपांतरित।

विंध्याचल में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर टेली मेडिसिन केंद्र की स्थापना।

सभी चिकित्सालयों में स्वच्छता एवं नवीनीकरण के कार्य स्वीकृत।

सभी चिकित्सालयों में प्रसव कक्ष एयरकंडिशनयुक्त।

जिला महिला चिकित्सालय में 100 बेड का मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य भवन का लोकार्पण।

जिला अस्पताल में मुफ्त डायलिसिस सेवा (10 बेड) प्रारम्भ।

ट्रॉमा सेंटर का स्थापना कार्य प्रगति पर।

BHU के मीरजापुर के बरकछा स्थित साउथ कैम्पस में 24 घंटे ओपीडी सेवा शुरू। 500 बेड का अस्पताल प्रस्तावित।

BHU बरकछा मिर्ज़ापुर में आधुनिक पशु चिकित्सा व पशु विज्ञान संकाय का शुभारंभ।

सीएसआर द्वारा जिला अस्पतालों, सभी पीएचसी, सीएचसी में आरओ सहित वाटर कूलरों की स्थापना।

जिले के समस्त चिकित्साल वेब कास्टिंग के माध्यम से संयोजित।

श्रम मंत्रालय द्वारा ESIC डिस्पेंसरी का शुभारंभ

सांसद निधि से कराए गए प्रमुख कार्य:

जनपद के कचहरी तथा सभी तहसीलों में मुवक्किलों के विश्राम स्थल हेतु वादी-प्रतिवादी कक्ष का निर्माण कार्य पूर्ण।

राष्ट्रीय राजमार्गों एव राज्यमार्गों तथा प्रमुख सड़कों के प्रमुख तिराहों व चौराहों पर स्टेनलेस स्टील से निर्मित 200 से ज्यादा यात्री विश्राम स्थल का कार्य पूर्ण।

जनपद के प्रमुख विद्यालयों, तहसीलों एवं ब्लॉकों में 21 सौर ऊर्जा संचालित ओवर हेड टैंक सहित पेयजल सुविधा निर्माणाधीन।

जनपद के 122 चौराहों पर सोलर हाईमास्ट लाइट की स्थापना। सामाजिक न्याय की सभी जातियों के महापुरुषों के नाम पर (नाई/कोल आदिवासी/निषाद/हलवाई/बियार / मुस्लिम/ बिंद/ठाकुर/प्रजापति समाज ) सामाजिक कार्यक्रमों हेतु एक सामुदायिक उत्सव भवन (32 लाख रुपए प्रत्येक) की सौगात।

नए केंद्रीय विद्यालय का शुभारम्भ, फिलहाल अस्थाई भवन हेतु मरम्मत का कार्य।

रोजगार सृजन:

प्रदेश की सबसे बड़ी सोलर पॉवर प्लांट (75 मेगावाट) का फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैंक्रों एवं मा. प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा लोकार्पण।

खनन व पर्यावरण के नाम से भट्‌ठा व्यवसायी की दोहन से मुक्ति।

चुनार में राजकीय पॉलीटेक्निक निर्माण पूर्ण तथा शिक्षा प्रारम्भ। जनपद में पहली बार रोजगार मेले का आयोजन हुआ।

विन्ध्याचल मेले को राजकीय मेले का दर्जा

जनपद के उबड़ – खाबड़ जमीनों को चिन्हित कराकर पूर्वांचल के सबसे बड़े औद्यौगिक क्षेत्र के रूप में घोषित कर उद्योग स्थापना की यायेजना पर कार्य आरंभ।

मेगा फूड पार्क स्वीकृत। पीतल उद्योग हेतु क्लस्टर स्वीकृत। जनपद में 150 एकड़ भूमि पर इंडियन ऑयल का टर्मिनल स्वीकृत।

मिर्ज़ापुर को मॉडल कैरियर सेंटर की सौगात

सामाजिक कार्य:

राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिलाने का कार्य।

मझवार जाति (केवट, मल्लाह, मुजाबीर, गोंड, मझवार) को अनुसूचित जाति में शामिल करने हेतु संसद में मांग।

सामाजिक दृष्टि से अति पिछड़े वर्ग जैसे कोल, मुसहर आदि को अनुसूचित जाति व गोड, वियार आदि को अनुसूचित जाति में सम्मिलित कराने हेतु संसद में मांग।

जन समस्याओं के निस्तारण हेतु प्रत्येक रविवार जनता दरबार।

गरीब परिवारों को विवाह के अधिभार से मुक्ति हेतु सामाजिक विवाह योजनाओं का संचालन।

विभिन्न जटिल रोगों हेतु प्रधानमंत्री राहत कोष एवं स्वास्थ्य मंत्रालय से जरूरतमंदों को 800 लाख रुपए से ज्यादा की सहायता।

राष्ट्रीय वयोश्री योजना के तहत मीरजापुर में 2.98 करोड़ रुपए की लागत से 8189 वरिष्ठ नागरिकों एवं दिव्यांगजनों को ट्राईसाइिकल, व्हील चेयर, श्रवण यंत्र, बैसाखी इत्यादि विभिन्न आवश्यक उपकरणों का नि:शुल्क वितरण।

फसलों विशेषकर दलहन एवं सब्जियों की खेती को बचाने के लिए घड़रोजों को वन्यजीव अधिनियम अनुसूची 3 से वन्यजीव अधिनियम 5 में कराकर मारने हेतु छूट कराने हेतु संसद में प्रस्ताव।

अन्य महत्वपूर्ण कार्य:

चुनार डाकघर में पासपोर्ट सेवा केंद्र आरम्भ। झिंगुरा हवाई पट्‌टी को एयरपोर्ट के रूप में विकसित करना प्रस्तावित।

विंध्याचल विकास प्राधिकरण की मंजूरी

श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन अंतर्गत पटेहरा एवं हलिया क्लस्टर के 27 ग्राम में शहरी सुविधाओं हेतु कुल 132.068 करोड़ की योजना स्वीकृत।

हल्दिया से प्रयागराज गंगा में चलने वाले जलयान हेतु मीरजापुर, चुनार या नारायनपुर में मल्टी मॉडल टर्मिनल (पोर्ट) बनवाने का प्रयास।

आवश्यक स्थानों पर टैंकर से जल उपलब्ध कराने हेतु टैंकर की व्यवस्था कराना व करना।

चुनार किला में लाइट एवं साउण्ड प्रोग्राम शीघ्र प्रस्ताव प्रेषित।

मीरजापुर जनपद के प्राकृतिक स्थलों को पर्यटन केंद्रों के तौर पर विकसित करने का कार्य।

मिर्ज़ापुर के पर्यटको हेतु राही टूरिस्ट बंगले का जीर्णोद्धार

ऐतिहासिक किलों, धर्मस्थलों को विकसित करने हेतु कार्य।

अल्पसंख्यकों के कल्याण हेतु 146 मदरसों का आधुनिकीकरण। जनपद के अधूरे 1230 मजरों में ग्रामीण विद्युतीकरण के अंतर्गत विद्युतीकृत।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन अंतर्गत 1270 समूहों का गठन कर रिवाल्विंग फण्ड के रूप में 126.30 लाख रु. उपलब्ध कराया गया।

मा. प्रधानमंत्री स्वच्छता अभियान हेतु गंगा किनारे के कुल 134 ग्राम पंचायतों के 282 राजस्व ग्रामों में 50394 शौचालयों का निर्माण।

गरीबों को मिला घर एवं बुनियादी सुविधाएं :

प्रधानमंत्री आवास योजनांतर्गत गरीबी रेखा से नीचे के 23284 जनपदवासी लाभान्वित। गरीबों को आवास उपलब्ध कराने के मामले में यूपी के टॉप टेन जिलों में मीरजापुर शामिल।

202918 कृषकों का पारदर्शी किसान सेवा योजनांतर्गत पंजीकरण।

रु. 13455190 डायरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर योजनांतर्गत अनुदान के रुप में वितरित।

211013 मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरित। 

1400 दिव्यांग जनों को सहायक उपकरण का वितरण।

1623 निराश्रित महिलाओं को पति की मृत्यु के उपरांत नवीन पेंशन स्वीकृत।

जनपद में 135000 उज्जवला योजना में निर्धन परिवार को गैस सिलेंडर मुफ्त वितरित।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *