Tuesday, June 25, 2024
Plugin Install : Cart Icon need WooCommerce plugin to be installed.

Tag: india

पीएम मोदी के बचपन का सपना पूरा हुआ, ‘रो-रो फेरी सेवा’ से 8 घंटे की यात्रा एक घंटे में पूरी हुई

पीएम मोदी के बचपन का सपना पूरा हुआ, ‘रो-रो फेरी सेवा’ से 8 घंटे की यात्रा एक घंटे में पूरी हुई

बुद्धादर्शन न्यूज, नई दिल्ली गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र में अब भावनगर से दाहेज के बीच यात्रा करने के लिए 8 घंटे का लंबा समय नहीं लगेगा, बल्कि एक घंटे के अंदर ही लोग दोनों इलाकों में आसानी से आवागमन कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को भावनगर के घोघा और भरूच के दाहेज के बीच लगभग 650 करोड़ रुपए की रोल-ऑन रोल ऑफ  (रो-रो) फेरी सेवा के पहले चरण का शुभारंभ किया। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि रो-रो फेरी सर्विस के जरिए वह अपने बचपन के सपने को पूरा होते देख रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर पूर्ववर्ती कांग्रेस नीत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में जलमार्गों के जरिए यात्रा सस्ता होने के बावजूद पिछली सरकारों ने ध्यान नहीं दिया। हमारे ये प्रयास देश को 21वीं सदी की परिवहन प्रणाली प्रदान करेंगे, जो न्यू इंडिया की दिशा में महत्वपूर्ण कदम होगा। उन्होंने ‘रो-रो फेरी सर्विस’ को दूसरे राज्यों के लिए रोल मॉडल बताया। इस तरह की परियोजना से राज्य के विकास के साथ लोगों को रोजगार के अवसर मिलते हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 15 वर्षों में गुजरात ने अपने बंदरगाहों की क्षमता में चार गुना वृद्धि की है। यह भी पढ़ें:  Ayodhya:दिल्ली से अयोध्या जाने वाली प्रमुख ट्रेन  ‘पी फॉर पी’ से आएगी समृद्धि- प्रधानमंत्री ने रो-रो फेरी सर्विस के तहत फेरी में बैठकर 100 दिव्यांग बच्चों के साथ घोघा से दाहेज पहुंचे। इस दौरान दाहेज में उन्होंने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘पी फॉर पी’ (पोर्ट फॉर प्रॉस्पेरिटी) अर्थात समृद्धि के लिए बंदरगाह।  उन्होंने कहा कि बंदरगाह समृद्धि के प्रवेश द्वार हैं। अब लोगों को घोघा से दाहेज जाने के लिए 360 किलोमीटर की यात्रा के बजाय महज 31 किलोमीटर की यात्रा करनी होगी। जनवरी 2012 में इस ड्रीम प्रोजेक्ट की नींव खुद मोदी ने गुजरात का सीएम रहते हुए रखी थी।   रो-रो फेरी से घोघा की बदलेगी तस्वीर- प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि रो-रो फेरी से घोघा की तस्वीर बदल जाएगी। भविष्य में इस सेवा का विस्तार जाफराबाद, दमन दीव, हजीरा जैसी जगहों पर भी किया जाएगा। जानकारी के अनुसार एक फेरी सर्विस से एक साथ 70 से 80 ट्रक या 100 छोटी गाड़ियां या फिर 500 यात्रियों को लेकर जाया जा सकेगा।

Ayodhya: एक लाख 87 हजार दीपों से भगवान राम का स्वागत

Ayodhya: एक लाख 87 हजार दीपों से भगवान राम का स्वागत

गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज कराने के लिए विश्व कीर्तिमान बुद्धादर्शन न्यूज, नई दिल्ली भगवान राम की नगरी अयोध्या में छोटी दीपावली के मौके पर एक लाख 87 हजार दीपों से सरयू तट शाम के अंधेरे में दूधिया रोशनी में जगमगा गया। राम की पैड़ी स्थित सात घाटों पर शाम 6:20 बजे से  आठ बजे के मध्य मिट्टी के दीपक जलाए गए। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने राज्यपाल राम नाईक के साथ मिलकर दीप जला कर कार्यक्रम की शुरूआत की। इस मौके पर केंद्रीय पर्यटन मंत्री डॉ. महेश शर्मा, राज्य मंत्री केजे अल्फांसो के अलावा प्रदेश मंत्रिमंडल के कई सदस्य, सांसद, विधायकों के साथ अयोध्यावासी उपस्थित रहें। इतनी बड़ी संख्या में दीए जलाने के लिए घाटों पर ढाई हजार वालंटियर्स उपस्थित थें। हालांकि पूर्व में घाट पर 1 लाख 71 हजार दीप प्रज्वलित करने की योजना बनायी गई थी, लेकिन गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज कराने के लक्ष्य से आयोजकों ने इसकी संख्या बढ़ाकर 1 लाख 87 हजार कर दी। सरयू किनारे श्रीरामघाट, दशरथघाट, लक्ष्मणघाट, वैदेहीघाट,  भरतघाट, शत्रुघ्नघाट, मांडवी घाट पर ऊपर से नीचे तक कतार में दीये बिछाए गए। साथ ही घाटों पर स्थित मंदिर अलग-अलग रंग की आकर्षक रोशनी से चमक उठे। इस मौके पर गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड की टीम भी पहले से उपस्थित थी और जलते दीयों की तस्वीर ड्रोन कैमरे व कुछ अन्य विशेष कैमरों से खींची। इस मौके पर मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने 135 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। दीपोत्सव में छात्रों ने निभाई महत्वपूर्ण भूमिका- एक लाख 87 हजार दीपों को जलाने में यहां के विभिन्न कॉलेजों के ढाई हजार ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इनमें अवध विश्वविद्यालय के साकेत कॉलेज, राजा मोहन गर्ल्स पीजी कॉलेज, झुनझुनवाला कॉलेज, परमहंस कॉलेज इत्यादि के छात्रों और शिक्षकों ने योगदान दिया। पुष्पक विमान की तर्ज पर हेलिकॉप्टर ससे आए श्रीराम- इस मौके पर त्रेता युग की तर्ज पर अयोध्या में भगवान श्रीराम, लक्ष्मण और सीता हेलिकॉप्टर से अयोध्या पहुंचे। उनके ऊपर हेलिकॉप्टर केे जरिए पुष्प वर्षा की गई। यहां लेजर शो के जरिए रामायण के प्रसंगों को जीवंत किया गया।

Page 1 of 3 1 2 3
  • Trending
  • Comments
  • Latest

FIND US ON FACEBOOK