Tuesday, June 25, 2024
Plugin Install : Cart Icon need WooCommerce plugin to be installed.

Tag: india

यमुना को प्रदूषणमुक्त करने सात समुंदर पार शुरू हुआ कैंपेन, प्रवासी भारतीयों की पहल

यमुना को प्रदूषणमुक्त करने सात समुंदर पार शुरू हुआ कैंपेन, प्रवासी भारतीयों की पहल

बुद्धादर्शन न्यूज, नई दिल्ली यमुना के प्रदूषण को लेकर सात समुंदर पार रहने वाले प्रवासी भारतीय भी चिंतित हैं। यह चिंता उस समय ज्यादा बढ़ जाती है जब ये भारतीय अपने धर्म स्थलों का दर्शन करने स्वदेश आते हैं और ऑक्सीजन रहित यमुना के जल को देखकर भावुक हो जाते हैं। यमुना को प्रदूषणमुक्त करने के लिए ये भारतीय लंदन में ऑनलाइन कैंपेन चला रहे हैं, इसी के तहत ऑनलाइन पीटिशन भी शुरू की गई है, जिसके जरिए ब्रिटिश सरकार पर दबाव डालने की कोशिश की जाएगी, ताकि यमुना को प्रदूषणरहित करने के लिए ब्रिटिश सरकार तकनीकी तौर पर भारत सरकार का सहयोग करे। प्रवासी भारतीयों के इस अभियान में वहां के स्थानीय सांसदों का भी सहयोग मिल रहा है।  इंग्लैंड में गुजरात से संबंध रखने वाले राकेश राजपारा और साधना बेन नामक महिला ने ‘हेल्प असिस्ट इन रिजुविनेटिंग द सैक्रेड होली यमुना रिवर कैंपेन यूके’ नाम से अॉनलाइन पीटिशन शुरू किया है। राकेश राजपारा कहते हैं, ‘10 हजार हस्ताक्षर होने पर इंगलैंड की सरकार इसे स्वीकार करेगी और एक लाख हस्ताक्षर पूरा होने पर इस पर चर्चा करने का विचार होगा।’ इस अभियान को स्थानीय काउंसिलर मंजुला सूद, लिसेस्टर ईस्ट से ब्रिटिश लेबर पार्टी के संसद कीथ वॉज, लॉर्ड मेयर रश्मिकांट जोशी का भी समर्थन प्राप्त है। आस्था का केंद्र है यमुना- पीटिशन में कहा गया है कि पूरी दुुनिया के लाखों श्रद्धालु भारत में बहने वाली पवित्र यमुना नदी के वृंदावन, मथुरा और गोकुल में पूजा करने आते हैं। इस नदी से हम सभी की आस्था जुड़ी है। लेकिन आज यह नदी बहुत ज्यादा प्रदूषित हो गई है। संयुक्त राष्ट्र संघ इस नदी को मृत घोषित कर चुका है। नदी में ताजा पानी नहीं है। श्रद्धालुओं को नदी के गंदे पानी में पूजा करने को मजबूर होना पड़ता है। तकनीकी सहयोग करे ब्रिटिश सरकार- बुद्धादर्शन से बातचीत में साधना बेन कहती हैं कि कैंपेन के जरिए हम UK Govt.  से निवेदन कर रहे हैं कि नदी को प्रदूषणमुक्त करने के लिए भारत सरकार का सहयोग करे। ताकि यमुनोत्री से इलाहाबाद तक स्वच्छ पानी का बहाव हो। यमुना नदी, एक नजर: लंबाई - 1376 किलोमीटर दिल्ली में कुल लंबाई- 46 किलोमीटर दिल्ली में यमुना का प्रदूषित हिस्सा- वजीराबाद बैराज से ओखला बैराज तक 22 किलाेमीटर Zero oxygen in yamuna in Delhi- दिल्ली में यमुना में 17 नालों के जरिए औद्योगिक एवं घरेलू कचरा गिरता हैं। राजधानी में 1600 से ज्यादा अनॉधिकृत कॉलोिनयां हैं, जिनमें से अधिकांश में अभी तक सीवर लाइन नहीं डाली गई है। इन कॉलाेनियांे का अधिकांश कचरा नालों के जरिए नदी में प्रवाहित होता है। इसकी वजह से वजीराबाद बैराज से ओखला बैराज के बीच 22 KM के दायरे में Oxygen की मात्रा zero है। Help Assist in Rejuvenating the Sacred Holy Yamuna River Yamuna River (India), is worshipped by millions of devotees all around the world through pious banks of Vrindavan, Mathura and Gokul. The river has many spiritual significance to all. This very river is polluted with toxic industrial and domestic waste from Delhi and other drains United Nation has declared the Yamuna River dead. There is no fresh flow, flowing through whole stretch. Devotees are forced to take a sip, bath and perform religious activities in these toxic polluted waters. We urge the UK Government to assist the Indian Government to treat their Industrial and Domestic waste and not to pour treated or untreated waste water into Yamuna River. Furthermore ensure adequate natural flow of fresh water throughout the stretch,which starts from Yamunotri to Allahabad Please sign this petition here - https://petition.parliament.uk/petitions/200950

मस्तिष्क के शुद्धि का उपाय है विपश्यना: कोविंद

मस्तिष्क के शुद्धि का उपाय है विपश्यना: कोविंद

  Vipassana is an effective way to cleanse our mind and body, says President  -भगवान बुद्ध की देन है विपश्यना  बुद्धादर्शन न्यूज, नई दिल्ली राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नागपुर के काम्‍पटी में ड्रेगन पैलेस मंदिर परिसर में विपश्यना ध्‍ान केन्‍द्र का उद्घाटन किया।  इस अवसर पर राष्‍ट्रपति ने कहा कि विपश्यना भगवान बुद्ध द्वारा दी गई वो तकनीक है जो हमें अपनी अंतरमन से जोड़ती है। यह हमारे मस्तिष्‍क और शरीर की शुद्धि का प्रभावी उपाय है और इसके जरिये आधुनिक युग में बढ़ते तनाव का सामना करने की शक्ति मिलती है। The President of India, Ram Nath Kovind, inaugurated a Vipassana Meditation Centre at the Dragon Palace Temple complex in Kamptee, Nagpur on 22 September 2017. Speaking on the occasion, the President said that Vipassana is a meditation technique propounded by Lord Buddha which helps us connect with our inner selves. It is an effective way to cleanse our mind and body and equips us to face the stresses of modern life. If practised correctly, it can provide the same benefit as that received from certain medicines. In this way, Vipassana is also beneficial for health in addition to being a meditation technique. He stated that like Yoga, Vipassana should not be seen as being associated with any particular religion. It is for the welfare of all humanity. राष्‍ट्रपति ने कहा कि यदि विपश्यना का अभ्‍यास सही रूप से किया जाए तो इससे वही लाभ मिल सकते हैं जो हम कुछ दवाओं से प्राप्‍त करते हैं। यह मानवता के कल्‍याण की तकनीक है। राषट्रपति ने कहा कि बौद्ध दर्शन के विचारों का प्रतिबिंब हमारे संविधान में दिखाई देता है। विशेषतौर पर समानता, सद्भाव और सामाजिक न्‍याय के सिद्धांतों के परिपेक्ष्‍य में हम अपने संविधान को पाते हैं। संविधान निर्माता डॉक्‍टर बी आर आम्‍बेडकर ने कहा था कि पुरात‍न भारत में लोकतांत्रिक पद्धति दिखाई देती है। लोकतांत्रिक पद्धति की जड़ें भारत में प्राचीन काल से है। इस संदर्भ में उन्‍होंने बौद्ध संघों में लोकतांत्रिक परम्‍परा के चलन का उदाहरण भी दिया। आज की असुरक्षा के माहौल में महात्‍मा बुद्ध द्वारा अहिंसा, प्रेम और सद्भाव का संदेश प्रासंगिक है। इससे पहले राष्ट्रपति श्री कोविंद ने दीक्षा भूमि का दौरा भी किया और बाबा सा‍हब आम्‍बेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित की।

2023 में मिलेगी बुलेट ट्रेन की सौगात, मोदी-अाबे करेंगे भूमि पूजन

2023 में मिलेगी बुलेट ट्रेन की सौगात, MakeInIndia होगी ट्रेन

मोदी-अाबे आज करेंगे भूमि पूजन, समुंद्र के नीचे से भी गुजरेगी बुलेट ट्रेन   बुद्धदर्शन न्यूज, नई दिल्ली देश की पहली बुलेट ट्रेन 2023 में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अहमदाबाद से मुंबई के लिए रवाना होगी। बुलेट ट्रेन का किराया एयरोप्लेन से भी कम लगभग 3000 रुपए से 5000 रुपए के बीच होगा। इस परियोजना का भूमि पूजन कार्यक्रम गुरूवार को अहमदाबाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की मौजूदगी में होगा। जापान के सहयोग से ‘मेक इन इंडिया’ की तर्ज पर भारत में ही बुलेट ट्रेन का निर्माण किया जाएगा। राजस्थान के बाड़मेर से पहले आईआईटियन संजीव सिन्हा को इस परियोजना के लिए सलाहकार नियुक्त किया गया है। Fare of proposed Mumbai-Ahmedabad bullet train could be in the range of Rs 3,000 to Rs 5,000. Prime Minister Narendra Modi will be laying the foundation stone of the Mumbai-Ahmedabad bullet train project with the Prime Minister of Japan, Shinzo Abe, on September 14. To fund the ambitious Rs1,10,000-crore project, a loan of Rs88,000 crore will be taken from Japan. एक लाख करोड़ रुपए होंगे खर्च- बुलेट ट्रेल परियोजना को पूरा करने में लगभग एक लाख करोड़ रुपए खर्च होंगे। मुंबई से अहमदाबाद के बीच 508 किलोमीटर की रेलवे लाइन मई 2023 तक पूरी हो जाएगी। ट्रेन की रफ्तार 285 किलोमीटर प्रति घंटे होगी। कुल 508 किलोमीटर लंबी इस परियोजना का 92 परसेंट (468  किमी) हिस्सा एलीवेटेड होगा, लेकिन मुंबई के भीतर का 2 परसेंट हिस्सा (13 किमी) जमीन पर और 6 परसेंटस (27 किमी) समुंद्र के नीचे सुरंग से होकर बुलेट ट्रेन गुजरेगी। 12 स्टेशन से गुजरेगी बुलेट ट्रेन- मुंबई-अहमदाबाद के बीच 508 किमी लंबे मार्ग पर बुलेट ट्रेन 12 स्टेशन से होकर गुजरेगी। इनमें से चार स्टेशन महाराष्ट्र और आठ स्टेशन गुजरात में होंगे।     ...

महज 10 सालों में 4 हजार से ज्यादा नि:शुल्क सर्जरी कर चुके हैं डॉ.एचएन सिंह पटेल

महज 10 सालों में 4 हजार से ज्यादा नि:शुल्क सर्जरी कर चुके हैं डॉ.एचएन सिंह पटेल

ग्रामीण क्षेत्रों पर फोकस करने पर ही सुधरेगा हैल्थ सेक्टर बलिराम सिंह, नई दिल्ली डॉ.एचएन सिंह पटेल, पेशे से सर्जन। ...

सारनाथ में शुरू हुआ अंतरराष्ट्रीय बुद्ध कॉन्क्लेव, 32 देशों के 300 प्रतिनिधि पहुंचे

हवाई अड्‌डा पर उतरते ही विदेशी पर्यटकों को मिलेगा प्री-लोडेड सिम कार्ड

 बलिराम सिंह, नई दिल्ली पर्यटन एवं संस्‍कृति राज्य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) डॉ. महेश शर्मा ने ई-वीजा पर भारत आने वाले ...

सारनाथ में शुरू हुआ अंतरराष्ट्रीय बुद्ध कॉन्क्लेव, 32 देशों के 300 प्रतिनिधि पहुंचे

हवाई अड्‌डा पर उतरते ही विदेशी पर्यटकों को मिलेगा प्री-लोडेड सिम कार्ड

  बलिराम सिंह, नई दिल्ली पर्यटन एवं संस्‍कृति राज्य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) डॉ. महेश शर्मा ने ई-वीजा पर भारत आने ...

ग्रेटर नोएडा में 300 करोड़ रुपए की लागत से खुलेगा पंडित दीनदयाल उपाध्याय पुरातत्व संस्थान

-लाल किला में है जगह का अभाव बलिराम सिंह, नई दिल्ली केंद्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को ...

#Tourism पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए स्वच्छता, कनेक्टिविटी और सुरक्षा पर विशेष ध्यान: डॉ.शर्मा

बलिराम सिंह, नई दिल्ली केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्य (स्वतंत्र प्रभार) मंत्री डॉ.महेश शर्मा ने कहा कि सरकार पर्यटन को ...

Page 2 of 3 1 2 3
  • Trending
  • Comments
  • Latest

FIND US ON FACEBOOK