April 01, 2020

Ayodhya: एक लाख 87 हजार दीपों से भगवान राम का स्वागत

गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज कराने के लिए विश्व कीर्तिमान

बुद्धादर्शन न्यूज, नई दिल्ली

भगवान राम की नगरी अयोध्या में छोटी दीपावली के मौके पर एक लाख 87 हजार दीपों से सरयू तट शाम के अंधेरे में दूधिया रोशनी में जगमगा गया। राम की पैड़ी स्थित सात घाटों पर शाम 6:20 बजे से  आठ बजे के मध्य मिट्टी के दीपक जलाए गए। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने राज्यपाल राम नाईक के साथ मिलकर दीप जला कर कार्यक्रम की शुरूआत की। इस मौके पर केंद्रीय पर्यटन मंत्री डॉ. महेश शर्मा, राज्य मंत्री केजे अल्फांसो के अलावा प्रदेश मंत्रिमंडल के कई सदस्य, सांसद, विधायकों के साथ अयोध्यावासी उपस्थित रहें। इतनी बड़ी संख्या में दीए जलाने के लिए घाटों पर ढाई हजार वालंटियर्स उपस्थित थें। हालांकि पूर्व में घाट पर 1 लाख 71 हजार दीप प्रज्वलित करने की योजना बनायी गई थी, लेकिन गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज कराने के लक्ष्य से आयोजकों ने इसकी संख्या बढ़ाकर 1 लाख 87 हजार कर दी।

सरयू किनारे श्रीरामघाट, दशरथघाट, लक्ष्मणघाट, वैदेहीघाट,  भरतघाट, शत्रुघ्नघाट, मांडवी घाट पर ऊपर से नीचे तक कतार में दीये बिछाए गए। साथ ही घाटों पर स्थित मंदिर अलग-अलग रंग की आकर्षक रोशनी से चमक उठे। इस मौके पर गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड की टीम भी पहले से उपस्थित थी और जलते दीयों की तस्वीर ड्रोन कैमरे व कुछ अन्य विशेष कैमरों से खींची। इस मौके पर मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने 135 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास किया।

दीपोत्सव में छात्रों ने निभाई महत्वपूर्ण भूमिका-

एक लाख 87 हजार दीपों को जलाने में यहां के विभिन्न कॉलेजों के ढाई हजार ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इनमें अवध विश्वविद्यालय के साकेत कॉलेज, राजा मोहन गर्ल्स पीजी कॉलेज, झुनझुनवाला कॉलेज, परमहंस कॉलेज इत्यादि के छात्रों और शिक्षकों ने योगदान दिया।

पुष्पक विमान की तर्ज पर हेलिकॉप्टर ससे आए श्रीराम-

इस मौके पर त्रेता युग की तर्ज पर अयोध्या में भगवान श्रीराम, लक्ष्मण और सीता हेलिकॉप्टर से अयोध्या पहुंचे। उनके ऊपर हेलिकॉप्टर केे जरिए पुष्प वर्षा की गई। यहां लेजर शो के जरिए रामायण के प्रसंगों को जीवंत किया गया।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *