March 18, 2019

Breaking News

मां विंध्यवासिनी के दर्शन के लिए पुणे-दानापुर एक्सप्रेस (12149/50) मिर्जापुर में रूकने लगी

Photo Sabhar Neeraj singh

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने मिर्जापुर में ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर आगे के लिए किया रवाना

-जनपद के कारोबारियों व श्रद्धालुओं को मिलेगी राहत

Buddhadarshan News, Mirzapur

अब महाराष्ट्र, मुंबई के श्रद्धालुओं एवं कारोबारियों को मां विंध्यवासिनी देवी के दर्शन के लिए वाराणसी अथवा  प्रयागराज से गाड़ी बदलने की जरूरत नहीं है। अब श्रद्धालु सीधे मिर्जापुर रेलवे स्टेशन पर उतर कर ऑटो अथवा टैक्सी के जरिए मां विंध्यवासिनी देवी के दरबार में पहुंच रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने शनिवार, 9 फरवरी को रात्रि 10 बजे पुणे-दानापुर एक्सप्रेस (12149/50) को मिर्जापुर रेलवे स्टेशन पर हरी झंडी दिखाकर गंतव्य की ओर रवाना किया। केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के विशेष प्रयास से पुणे-दानापुर एक्सप्रेस (12149/50) का मिर्जापुर में स्टॉपेज हो गया। मिर्जापुर के कारोबारियों, व्यापारियों सहित आम लोगों के लिए बड़ी सौगात है।

विंध्यवासिनी देवी: श्रद्धालुओं के लिए हेलीकॉप्टर सेवा, आधुनिक रेलवे व बस स्टेशन की सुविधा होगी विकसित

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने केंद्रीय रेल मंत्रालय को पत्र लिखकर अपील की थी कि पुणे-दानापुर एक्सप्रेस ट्रेन का स्टॉपेज की व्यवस्था मिर्जापुर रेलवे स्टेशन पर भी किया जाए। केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के अनुरोध का संज्ञान लेते हुए रेल मंत्रालय ने पुणे-दानापुर एक्सप्रेस ट्रेन (12149/50) के मिर्जापुर में स्टॉपेज की मंजूरी दे दी है।

प्रयागराज के प्रमुख 9 पर्यटन स्थल

कारोबारियों- श्रद्धालुओं को मिलेगा लाभ:

मिर्जापुर जनपद एक कारोबारी शहर है। यहां पर मां विंध्यवासिनी का दर्शन करने उत्तर प्रदेश के अलावा देश-विदेश से भी काफी तादाद में श्रद्धालु आते हैं। ऐसे में इस ट्रेन के मिर्जापुर में रूकने पर जनपदवासियों को काफी राहत मिलेगी। केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के मिर्जापुर संसदीय कार्यालय के निजी सचिव संजय पटेल कहते हैं कि माननीय मंत्री अनुप्रिया पटेल जी के इस विशेष प्रयास से अन्य राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को काफी राहत मिली है। अब मुंबई अथवा महाराष्ट्र या मध्य प्रदेश के किसी भी हिस्से से श्रद्धालु सीधे मिर्जापुर आ रहे हैं। अब उन्हें प्रयागराज या वाराणसी होकर आने की जरूरत नहीं है। 

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *